Press "Enter" to skip to content

DGCA ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को 30 सितंबर तक बंद क्यों किया है।

अंतरराष्ट्रीय उड़ाने क्यों बंद की गई – डीजीसीए जो कि भारत की एयरलाइंस कंपनियों के को रेगुलेट करने का काम करती है, बीते कल उसने एक ट्वीट कर कर यह जानकारी दी है कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को 30 सितंबर के लिए बंद किया जा रहा है और इस ट्वीट में जो बात लिखी है वह यह है कि शेड्यूल अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को 30 सितंबर के लिए बंद किया जा रहा है डीजीसीए के द्वारा किए गए इस ट्वीट के बारे में सभी जानकारी देने वाले हैं कि डीजीसीए के इस नोटिफिकेशन का क्या मतलब है और देश में अंतरराष्ट्रीय उड़ाने चालू करने के लिए भारत सरकार क्या कर रही है।

सबसे पहले समझते हैं डीजीसीए के इस नोटिफिकेशन में क्या लिखा हुआ है और इसका क्या मतलब है, डीजीसीए ने यह नोटिफिकेशन सबसे पहले 26 जून 2020 को जारी किया था जिसमें डीजीसीए ने यह बताया था कि देश में रेगुलर अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को जुलाई महीने तक बंद किया जाएगा यह हम आपको 26 जून वाले नोटिफिकेशन की बात बता रहे हैं ।
उसके बाद इस नोटिफिकेशन में ही कई बार बदलाव किए गए हैं और इस बार भी उसी नोटिफिकेशन में बदलाव करके यह बताया गया है कि अब अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को 30 सितंबर तक बंद किया जा रहा है।

लेकिन यहां पर यह बात समझने वाली है कि डीजीसीए यहां पर जो अंतरराष्ट्रीय उड़ानें बंद करने वाली है वह केवल शेड्यूल अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की बात कर रही है शेड्यूल अंतरराष्ट्रीय उड़ाने वह होती है जो कि एयरलाइंस कंपनी रेगुलर बेसिस पर अपनी उड़ाने दूसरे देशों से जारी रखती हैं यानी कि रेगुलर अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को ही बंद किया जा रहा है,यहां पर यह बात नहीं लिखी हुई है कि एयर बबल्स उड़ानों को बंद किया जा रहा है, या फिर वंदे भारत मिशन की उड़ानों को को बंद किया जाएगा। यह दोनों उड़ानों को पूरी तरीके से चालू रखा जाएगा।

यह भी पढ़े – भारत में अंतरराष्ट्रीय उड़ाने 30 सितंबर तक बंद

1 सितंबर से 25 अक्टूबर तक कि नई सारी फ्लाइट की लिस्ट

पासपोर्ट वीजा ना होने पर भी भारतीय अपने देश जा सकते हैं

उम्मीद है कि आप को डीजीसीए के इस नोटिफिकेशन की बात समझ में आ गई होगी।

अब बात करते हैं देश में अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू करने को लेकर क्या बातचीत हो रही है, कि देश में रेगुलर अंतरराष्ट्रीय उड़ाने कब से शुरू हो सकती हैं तो हरदीपसिंह पुरी का यह जवाब था कि भारत में रेगुलर अंतरराष्ट्रीय उड़ाने जब ही शुरू हो सकती है जब दूसरे देश भारत से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की परमिशन देंगे ।
अभी दूसरे देश भारत से अंतरराष्ट्रीय उड़ाने चालू करने को लेकर परमिशन नहीं दे रहे हैं जिस कारण से भारत भी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू नहीं कर पा रहा।

Passenger no need for registration with Embassy

उन्होंने साथ-साथ यह भी बताया कि भारत दूसरे देशों से आ रहे लोगों के क्वॉरेंटाइन में लगातार नए नए बदलाव कर रहा है जिससे कि ज्यादा ज्यादा लोग ट्रेवल कर सके उन्होंने यह जानकारी दी कि जो क्वॉरेंटाइन पहले 14 दिन का था उसको 7 दिन किया गया 7 दिन के बाद अब उस क्वॉरेंटाइन को भी होम क्वॉरेंटाइन किया जा रहा है, अगर पैसेंजर्स पीसीआर टेस्ट लेकर ट्रेवल कर रहा है तो वह सीधे अपने घर जा सकता है यह सभी नए नियम लागू किए गए हैं,जिससे कि रेगुलर अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू करने में आसानी हो।

उन्होंने यह बात भी बताइए कि भारत यहां पर चाहता है कि रेगुलर अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू हो जाएं लेकिन दूसरे देशों से परमिशन ना मिलने के कारण रेगुलर अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू नहीं हो पा रही हैं।

तो फ्रेंड्स यह थी अभी तक कि कुछ जरूरी जानकारी जो कि डीजीसीए और हरदीप सिंह पुरी की तरफ से आ रही थी जो कि आपको जननी जरूरी थी उम्मीद है कि आपको अभी तक की लेटेस्ट फ्लाइट की स्टेटस के बारे में पता लग गया होगा।

Source : DGCA Twitter Account

 

More from InternationalMore posts in International »
More from Visa and Travel UpdatesMore posts in Visa and Travel Updates »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *