Press "Enter" to skip to content

किसी भी गल्फ देश से आने पर आपका क्वॉरेंटाइन मुम्बई एयरपोर्ट पर नहीं होगा। भारत सरकार का आदेश।

भारत सरकार ने 22 फरवरी से जो भी पैसेंजर गल्फ देशों से ट्रेवल करके भारत में आ रहे हैं, उनके लिए नए नियम लागू किए हैं। इस नए नियम के तहत अब किसी भी पैसेंजर का क्वॉरेंटाइन नहीं हो रहा है। लेकिन यहां पर कुछ ऐसे भी हालात आपके सामने आ सकते हैं जब आपको क्वॉरेंटाइन में रखा जा सकता है ।

 यदि कोई पैसेंजर दुबई, ओमान, सऊदी, कुवैत, कतर से दिल्ली में ट्रैवल करता है, या मुंबई एयरपोर्ट में जाता है तो उसका क्वॉरेंटाइन नहीं होगा।

क्वॉरेंटाइन से बचने के लिए क्या करना होगा।

यदि आप गल्फ के किसी भी देश से भारत में ट्रैवल करते हैं, तो अब आपको दिल्ली एयरपोर्ट की वेबसाइट पर जाकर अपना डिक्लेरेशन सबमिट करना जरूरी है, उस डिक्लेरेशन में आपको अपनी सारी पर्सनल डिटेल  

अपनी पासपोर्ट की, अपनी फ्लाइट की और इसके अलावा यदि आपके पास करोना का टेस्ट रिपोर्ट है तो करोना का नेगेटिव रिपोर्ट भी आपको अपलोड करना जरूरी है ।

इसके लिए आपको न्यू दिल्ली एयरपोर्ट की वेबसाइट पर जाना पड़ेगा वहां पर आपको एयर सुविधा पोर्टल मिलेगी । उस एयर सुविधा पोर्टल में आपको अपनी सारी डिटेल डाल देनी है।

एक बार वह सारी डिटेल आप डाल देंगे तो वहां से आपको कन्फर्मेशन मिल जाएगा।

और जब आप फ्लाइट से यात्रा करेंगे तो आपको इसका प्रिंटआउट लेकर ट्रैवल करना पड़ेगा। इसके साथ-साथ कोरोना के रिपोर्ट का भी प्रिंटआउट लेकर ट्रेवल करना जरूरी रहेगा।

 सिविल एविएशन मंत्रालय की तरफ से जो नियम है वह देश के सभी एयरपोर्ट्स के लिए एक समान ही है यदि आप गलत देशों से आते हैं भले ही आप करोना का  रिपोर्ट लेकर आते हैं । इसके बावजूद भी आपका कोरोना का जाँच एयरपोर्ट पर किया जाएगा।। इसके लिए एयरपोर्ट अधिकारी आपका सैंपल ले लेंगे लेकिन अच्छी बात यह है कि जो केंद्र सरकार ने जो नियम जारी किए हैं उसके अनुसार नेगेटिव रिपोर्ट आने तक आपको इंतजार करने की जरूरत नहीं है ।

यह भी पढ़े- ओमान में भी अब फ्लाइट के ऊपर प्रतिबंद लग सकता है।

आप अपने घर जा सकते हैं । ये नई जानकारी दी गई है जो कि 22 फरवरी से ट्रैवल करने वाले लोगों के ऊपर लागू होता है । उसमें किसी भी पैसेंजर का अब क्वारंटाइन नहीं होगा और वह बिना क्वॉरेंटाइन के  ही अपने घर जा सकेंगे। मतलब कि उनका पूरा का पूरा होम क्वॉरेंटाइन रहेगा।

एयरपोर्ट अधिकारी के द्वारा उनको मैसेज के जरिए बता दिया जाएगा कि उनका कोरोना का रिपोर्ट नेगेटिव है या फिर पॉजिटिव है। यदि उनका कोरोनावायरस का रिपोर्ट पॉजिटिव आता है। तो उनको क्वॉरेंटाइन में रहना जरूरी है यदि उनका कोरोना का रिपोर्ट पर नेगेटिव आ जाता है तो उनको क्वॉरेंटाइन से छुटकारा मिल जाएगा।

ये थी पूरी जानकारी गल्फ देशों से ट्रैवल करने वाले लोगों के लिए नियम ।

यदि आप भारत के किसी भी एयरपोर्ट पर जाते हैं तो आप सभी लोगों के लिए एक समान ही नियम है जिसमें पैसेंजर का क्वॉरेंटाइन नहीं है।

22 फरवरी से भारत आने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय पैसेन्जर्स के लिए नए नियम आ गए ।

यह अलग बात है कि राज्य सरकार इस पर से अलग से नियम लागू कर सकती है और आपको वह क्वॉरेंटाइन में डाल सकती है ।

लेकिन केंद्र सरकार के नियमों के आधार पर आपका क्वारंटाइन अब आपका नहीं होगा।

More from InternationalMore posts in International »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *