Press "Enter" to skip to content

Jet Airways (जेट एयरवेज) will raise 487 as initial funding to payback lenders.

Last updated on 27 October 2020

Jet Airways (जेट एयरवेज) जो कि पिछले 18 महीने से इंसॉल्वेंसी के प्रोसेस से गुजर रही थी लेकिन 22 अक्टूबर को जेट एयरवेज को फाइनली खरीदार मिल गया

Jet Airways (जेट एयरवेज) में बोली लगाने वाले (Kalrock capital) कार्लरॉक कैपिटल और मुरारीलाल जालान के द्वारा सबमिट किया गए रेजोल्यूशन प्लान को committee of creditor ने अप्रूव कर दिया है

लेकिन committee of creditor के इस अप्रूवल के बाद अभी भी जेट एयरवेज को चालू करने के लिए काफी लंबा रास्ता तय करना है जिसमें जेट एयरवेज को कई तरह के अप्रूवल लेने के साथ-साथ जेट के लेनदार को भी कुछ पैसा देना है।

इन सबके साथ साथ जेट एयरवेज के इन्वेस्टर को भी जेट में सिक्योरिटी के रूप में 150 करोड़ रुपए 3 नवंबर से पहले पहले जमा कराने पड़ेंगे।

मौजूदा समय की बात करें तो जेट एयरवेज के 2 एयरक्राफ्ट बोइंग 737 और A330 एयरक्राफ्ट को बेचने की तैयारी चल रही है जिसके माध्यम से 487 करोड़ की फंडिंग जुटाई जाएगी।

इस राशि से जेट एयरवेज के लेनदारओ का कुछ शुरुआती बकाया दिया जाएगा।

जेट एयरवेज को अपनी उड़ान भरने से पहले अभी भी काफी लंबा रास्ता तय करना बाकी है जिसमें जेट एयरवेज को कई तरह के लाइसेंस लेने के साथ-साथ एयरपोर्ट पर स्लॉट और इसके अलावा कई तरह के दूसरे एप्रुवल्स भी लेने बाकी हैं।

लेकिन फ्रेंड्स इन सब में अच्छी बात यह है कि इसके लिए भारत सरकार खुद जेट एयरवेज की मदद कर रही है जिससे कि जेट एयरवेज को जल्दी से जल्दी चालू किया जा सके।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नया विमान

जेवर एयरपोर्ट की कुछ खास बातें

Source News Link

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *