भारत के 108 एयरपोर्ट पर शुरू होगी उड़ाने, 18 हजार से ज़्यदा फ्लाइट भी होगी चालू

Flight News

Spread the love

कोरोना संकट के बीच लोगों की आवाजाही बहुत कम हो गई है. हालांकि, अब मोदी सरकार की ओर से कोरोना वैक्सीनेशन में तेजी लाए जाने से बेहतर माहौल की आस बंधने लगी है. उम्‍मीद है कि आने वाले समय में हवाई यात्रा की मांग बढ़ने वाली है. यात्रियों की अनुमानित मांग को देखते हुए एयरलाइन कंपनियों ने भी फ्लाइट्स संचालन की तैयारी शुरू कर दी है

एयरलाइन कंपनियों की मांग के आधार पर Director General of Civil  Aviation (DGCA) ने देश के 108 हवाईअड्डों से हर सप्ताह 18,843 घरेलू उड़ानों की अनुमति दी है. summer schedule  की इन फ्लाइट्स का अक्टूबर 2021 के आखिरी रविवार तक संचालन किया जाएगा. आंकड़ों पर गौर करें तो इंडिगो एयरलाइंस सबसे ज्‍यादा 8,749 डेस्टिनेशंस के लिए उड़ान भरने की मंजूरी मिली है. इनमें वे फ्लाइट्स भी शामिल हैं, जिन्हे उड़ान स्कीम के तहत चलाया जाना है. इंडिगो के अलावा स्पाइसजेट की 2854 फ्लाइट्स, एलायंस एयर की 742, एयर इंडिया की 1683, गो एयर की 1747, विस्तारा की 1288, True Jet की 344, स्टार एयर की 115, पवन हंस की 24, फ्लाइ बिग की 54 फ्लाइट्स देश के 108 हवाईअड्डों से हर सप्ताह उड़ान भरेंगी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2014 में केंद्र की सत्‍ता पर काबिज होते ही एयर कनेक्टिविटी बढ़ाने को प्राथमिकता दी. पिछले 6-7 साल से लगातार कई नए शहरों को एयर कनेक्टिविटी से जोड़ने का काम चल रहा है. कई मौजूदा एयरपोर्ट की क्षमता में भी विस्तार किया जा रहा है. छोटे शहरों, पहाड़ी शहरों और दूरस्थ क्षेत्रों को भी एयर कनेक्टिविटी से जोड़ने का काम तेजी से चल रहा है. इसी कड़ी में हाल में शुरू किए गए बरेली, रूपसी जैसे एयरपोर्ट से भी समर शेड्यूल की फ्लाइट चलाने की अनुमति दी गई है.

कोरोना काल में घरेलू विमान सेवाएं मई 2020 में चरणबद्ध तरीके से शुरू की गई थीं. आज भी 80 फीसदी डॉमेस्टिक फ्लाइट्स ही उड़ान भर रही हैं. नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा है कि बहुत जल्द एविएशन सेक्टर प्री-कोविड लेवल तक पहुंच जाएगा. डीजीसीए ने साल 2020 के लिए मिली प्रति सप्ताह समर शेड्यूल मंजूरी की तुलना में महज 80 फीसदी फ्लाइट्स की मंजूरी दी है. लॉकडाउन के पहले साल 2020 के लिए डीजीसीए ने विभिन्‍न एयरलाइंस को 24,409 फ्लाइट्स डिपार्चर की मंजूरी दी थी. अब इनका 80 फीसदी यानी करीब 18,843 फ्लाइट हर हफ्ते प्रस्थान की मंजूरी दी है.

देश के कई एयरपोर्ट्स में कोरोना प्रोटोकॉल का सही से अनुपालन नहीं होने पर डीजीसीए ने सख्ती दिखाई है. केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने भी तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए कहा है कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बाद भी घरेलू उड़ान सेवाएं फिर से बंद नहीं की जाएंगी. केंद्रीय मंत्री ने स्पष्ट कहा कि कहीं आने जाने के लिए फ्लाइट सेवा सबसे सुरक्षित है. हवाई यात्रियों को सफर के दौरान फेस मास्क पहनना और सामाजिक दूरी का पालन करना होगा. नियमों का उल्लंघन किया तो यात्रियों पर जुर्माना लगाया जाएगा. अगर कोई यात्री नियमों का पालन नहीं करता है तो उसे नो फ्लाई लिस्ट में डाल दिया जाएगा.

 


Spread the love
Recent Posts