Press "Enter" to skip to content

बेंगलुरु एयरपोर्ट पर क्वॉरेंटाइन के नए नियम सभी पैसेंजर्स के लिए

भारत में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के माध्यम से इंटरनेशनल पैसेंजर का बेंगलुरु एयरपोर्ट पर आने की संख्या में काफी ज्यादा बढ़ोतरी देखने को मिल रही है जिसको देखते हुए बेंगलुरू एयरपोर्ट ने क्वॉरेंटाइन और ट्रैवलिंग को लेकर नए नियम जारी किए हैं यह नया नियम सभी अंतरराष्ट्रीय पैसेंजर्स के साथ-साथ डोमेस्टिक पैसेंजर्स के ऊपर भी लागू होता है यदि आप इस समय बेंगलुरु एयरपोर्ट पर आने वाले हैं या फिर बेंगलुरु एयरपोर्ट से ट्रैवल करने वाले हैं तो आपको यह नई जानकारी पता होनी चाहिए।

भारत में आने वाले अंतरराष्ट्रीय पैसेंजर : 

भारत में आने वाले अंतरराष्ट्रीय पैसेंजर : सबसे पहले यहां पर बात करते हैं ऐसे पैसेंजर्स के बारे में जो कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के माध्यम से बेंगलुरु एयरपोर्ट पर लैंड हुए हैं और उनका घर कर्नाटक में ही आता है ऐसे सभी पैसेंजर का अगर उनका शुरुआती जांच में कोई भी symptom नजर नहीं आता तो उनको 14 दिन का होम क्वॉरेंटाइन मिल जाएगा ।
यहां पर फ्रेंड ध्यान देने वाली बात यह है कि अंतरराष्ट्रीय पैसेंजर्स को यदि शुरुआती जांच में कोई भी symptom नजर नहीं आएगा तो उनको होम क्वॉरेंटाइन 14 दिन का दिया जा रहा है । यदि आप बेंगलुरु एयरपोर्ट पर आते हैं और आपको किसी तरीके का कोई symptom नजर आएगा तो ऐसे हालात में आप को हॉस्पिटल में जाना पड़ सकता है और साथ ही साथ ऐसे हालात में आपका क्वॉरेंटाइन भी किया जा सकता है।

घरेलू उड़ानों के पैसेंजर : 

घरेलू उड़ानों के पैसेंजर : अब बात करते हैं ऐसे पैसेंजर के बारे में जो कि बेंगलुरु एयरपोर्ट पर आए हैं और बेंगलुरु एयरपोर्ट से उनको किसी दूसरे एयरपोर्ट पर जाना है तो ऐसे हालात में किसी भी पैसेंजर का टेस्ट नहीं होगा और साथ ही साथ उनको कोई भी क्वॉरेंटाइन नहीं किया जाएगा।

लेकिन यदि कोई पैसेंजर 48 घंटे से ज्यादा और 7 दिन से कम टाइम लिमिट के विजिट के लिए जाता है तो ऐसे पैसेंजर्स को जरूरी है कि वह अपने साथ कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट लेकर ट्रैवल करें तो ही वो क्वॉरेंटाइन से बस सकता है यदि उसके पास कोरोनावायरस का रिजल्ट नहीं होगा तो उसका क्वारंटाइन किया जाएगा और यदि कोरोना टेस्ट नेगेटिव होता है तो ही वह अपने काम पर जा सकता है यदि उसका कोरोनावायरस पॉजिटिव पाया गया तो उसको क्वॉरेंटाइन किया जाएगा भले ही वह 7 दिन के लिए ही क्यों ना आया हो।

यदि दोबारा आपको बताना चाहें तो छोटे शब्दों में यह कह सकते हैं कि अंतरराष्ट्रीय पैसेंजर का अब 14 दिन का होम क्वॉरेंटाइन हो गया है यदि उनको शुरुआती जांच में कोई लक्षण नहीं मिलेगा यदि लक्षण मिलता है तो उनका टेस्ट किया जाएगा और टेस्ट के आधार पर उनको होम क्वॉरेंटाइन या फिर इंस्टॉल क्वॉरेंटाइन मिल जाएगा।

UAE New Visa Policy

Delhi Airport Latest News

Air India New Offer

Kolkata Airport Latest News

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *