Press "Enter" to skip to content

भारत सरकार ने क्वॉरेंटाइन को लेकर नियम किए सख्त, भारत आने से पहले आपको यह नियम पता होना चाहिए

क्वॉरेंटाइन को लेकर नियम : बहुत सारे लोग अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से भारत में ट्रेवल कर रहे हैं जहां पर यह देखा गया है कि उनमें से कई पैसेंजर  गलत कोरोनावायरस की रिपोर्ट लेकर आ रहे हैं जिसको देखते हुए अभी भारत सरकार ने नया नियम जारी किया है जिसके अनुसार यदि कोई भी पैसेंजर का फेक (fake) रिपोर्ट पाया गया तो उसके ऊपर कानूनी कार्रवाई हो सकती है जिसमें पैसेंजर को जेल भी भेजा जा सकता है।

क्वॉरेंटाइन और पीसीआर टेस्ट

यदि आप इस समय भारत में हैं और दूसरे देशों में ट्रेवल करने की सोच रहे हैं तो आपको बताना चाहेंगे कि सभी देशों ने अपने यहां पर क्वॉरेंटाइन से जुड़ी हुई अलग-अलग नियम बना रखे हैं कई देशों में 7 दिन का क्वॉरेंटाइन है और कई देशों में 14 दिन का पॉइंट टाइम है ज्यादातर देशों ने अपने यहां पर 14 दिन का ही क्वॉरेंटाइन रखा हुआ है।

यानी कि यदि आप भारत से दूसरे देश में ट्रैवल करते हैं तो आपको कंपलसरी 14 दिन क्वॉरेंटाइन में रहना पड़ेगा लेकिन उन देशों में जाने से पहले पीसीआर टेस्ट भी कराना अनिवार्य है बिना पीसीआर टेस्ट के आपको फ्लाइट में नहीं बैठने दिया जाएगा यह लगभग सभी देशों ने नियम बना रखे हैं। यहां पर आपको बताना चाहेंगे कि यदि आप देश के बड़े एयरपोर्ट जैसे कि दिल्ली मुंबई कोलकाता से यदि ट्रैवल करते हैं तो अब आप अपना पीसीआर टेस्ट इन एयरपोर्ट पर ही करा सकते हैं

यदि आप दूसरे देशों में जाते हैं तो अच्छा रहेगा कि आप अपना करो ना का जांच एयरपोर्ट पर ही कराएं जिससे कि वह जांच सभी जगह पर वैलिड होगा और वह कोरोना का जांच आपको एलायंस कंपनियां भी रिजेक्ट नहीं करेंगे क्योंकि फ्रेंड से कई बार ऐसा देखा गया है कि बहुत सारे लोग दूसरे जगह से करो ना का टेस्ट कर आते हैं बाद में उनको पता लगता है कि वह कोरोना का टेस्ट वैलिड नहीं है।

एक बात ध्यान रखने वाली है कि यदि आप एयरपोर्ट से अपना करोना की जांच कराने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको एयरपोर्ट कम से कम 8 से 10 घंटे पहले पहुंचना पड़ेगा ताकि आप वहां से आसानी से करो ना का रिपोर्ट लेकर ट्रेवल कर सके क्योंकि करो ना का रिपोर्ट आने में भी 6 से 8 घंटे का समय लगता है तो फ्रेंड से आप एयरपोर्ट पर 8 से 10 घंटे पहले पहुंचकर अपना करो ना का जांच करा सकते हैं।

यदि आप यही टेस्ट दूसरे बाहर जगह से भी कराते हैं तो आपका करोना का टेस्ट ICMR अप्रूव होना चाहिए और उसकी मोहर लगी हुई होनी चाहिए तो ही वह कोरोना का रिपोर्ट वैलिड होगा नहीं तो वह कोरोना का रिपोर्ट कोई भी दूसरा देश या फिर एलाइंस कंपनी नहीं मानेगी।

क्वॉरेंटाइन को लेकर नियम

बात करते हैं वह लोग जो कि दूसरे देशों से भारत में आना चाहते हैं तो उनके लिए एक जरूरी जानकारी है कि वह अपना क्वॉरेंटाइन का अप्रूवल दिल्ली एयरपोर्ट की वेबसाइट पर जाकर ले सकते हैं आपको बताना चाहेंगे कि दिल्ली एयरपोर्ट की वेबसाइट में कई कंडीशन में क्वॉरेंटाइन को फ्री रखा गया है जैसे कि यदि आपके फैमिली में कोई बीमार है तो आपका क्वॉरेंटाइन नहीं किया जाएगा साथ ही साथ यदि आप के साथ कोई छोटा बच्चा है या फिर कोई प्रेग्नेंट महिला है तो इन सभी हालात में क्वॉरेंटाइन से बच सकते  है लेकिन इसके लिए आपको पहले ही अप्रूवल लेना पड़ेगा यह अप्रूवल आप दिल्ली एयरपोर्ट की वेबसाइट से भी ले सकते हैं।

यदि आप नेगेटिव करोना का रिपोर्ट दिल्ली एयरपोर्ट की वेबसाइट पर अपलोड कर देंगे तो उससे भी आपको क्वॉरेंटाइन का अप्रूवल मिल जाता है लेकिन यह काम आप को कम से कम फ्लाइट में बैठने से 3 दिन पहले करना अनिवार्य है तो ही आप को अप्रूवल मिल सकता है।

Delhi Airport Website approval process

नवी मुंबई एयरपोर्ट को जल्दी से पूरा करने के लिए महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने रिपोर्ट मांगी

यूके, फ्रांस,जर्मनी, बेल्जियम जैसे देशों में फिर से lockdown लग सकता है।

Hyderabad Airport, E-Boarding started with Indigo and Air India.

More from InternationalMore posts in International »
More from Visa and Travel UpdatesMore posts in Visa and Travel Updates »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *